Easy Tutorial (करंट अकाउंट) Current account kya hota hai 100/100

Current account kya hota hai

(What is Current Account)

करंट अकाउंट क्या होता है

दोस्तों Current account एक ऐसा अकाउंट है जो सिर्फ वही लोग खुलवाते है जो ऑनलाइन पैसों का लेनदेन का काम करते है। उदहारण के तोर पर जैसे दुकानदार, कंपनी, फर्म आदि। अगर आप एक बिजनेसमैन है और आपको ऑनलाइन पैसों का लेनदेन करना पड़ता है तो आपको करंट अकाउंट (Current account) खुलवाना चाहिए।

आइए अब हम इसके बारे में विस्तार से समझते है की करंट अकाउंट क्या होता है (Current account kya hota hai) मान लीजिये आपका एक इंटरनेट कैफ़े है जहाँ पर आप रोज 100-150 फॉर्म ऑनलाइन भरते है इसके इलावा आप बिजली के बिल, LIC की किश्तों का भुगतान आदि भी करते है। दोस्तों आप इतना तो जानते ही है की इन सभी कामो को करने के लिए पैसों का भुगतान तो ऑनलाइन ही करना पड़ेगा।

Saving Account kya hota hai?

पर हम आपको बता दें की इतना सारा भुगतान आप अपने Saving account में से नहीं कर सकते। क्योंकि Saving account की transaction की कुछ लिमिट है जैसे आप रोज की सिर्फ 6 transaction ही कर सकते है। इसीलिए यहाँ पर हमे करंट अकाउंट की जरुरत पड़ती है।

current account kya hota hai
current account kya hota hai (करंट अकाउंट क्या होता है)

Current account में हम जितना चाहे उतने पैसों की रोज की transaction कर सकते है। इसकी कोई लिमिट नहीं। हमने यह तो जान लिया की करंट अकाउंट क्या होता है (Current account kya hota hai) आइए अब इसके फायदे नुकसान के बारे में जानते है।

एक जरुरी बात जान ले की जैसे आपको Saving account में आपके जमा पैसों पर interest मिलता है। Current account में आपको कोई interest नहीं मिलता।

Current account meaning in hindi

Current account का हिंदी में मतलब चालु खाता होता है। जो अब तक चल रहा है।

करंट अकाउंट खोलने के लिए न्यूनतम राशि कितनी होनी चहिये

करंट अकाउंट का खाता खोलने के लिए कम से कम 10 हजार होना चाहिए। यह राशि अलग अलग बैंको अलग अलग हो सकती है। आपसे निवेदन है की आप जिस बैंक में अपना करंट अकाउंट का खाता खुलवाना चाहते है वहां जाकर एक बार जरूर पूछ ले।

Current account का खाता खोलने के लिए क्या क्या जरुरी documents चाहिए?

करंट अकाउंट क्या होता है (Current account kya hota hai) जानने के बाद जब आप अपने पसंदीदा बैंक में खाता खुलवाने जायेंगे तो बैंक में आपको account opening का form भरना होता है। फॉर्म भरने के साथ आपको कुछ documents साथ में लगाने होते है।

उसके बाद आपको पेमेंट का भुगतान करना होता है जितना भी आपके खाता खोलने के लिए चाहिए। उसके बाद  जाकर आपका खाता खोल दिया जाता है। आइए अब जानते है की खाता खोलने के क्या क्या document चाहिए:

आधार कार्ड (Aadhar Card): जैसे की आप जानते है की आधार कार्ड (Aadhar Card) आज के समय में बहुत जरुरी हो गया है हर कार्य के लिए। इस डॉक्यूमेंट को address proof के लिए इस्तेमाल किया जाता है। क्योंकि इस पर हमारा नाम, पिता का नाम, हमारा full address होता है की हम कहाँ के रहने वाले है।

वोटर आईडी कार्ड (Voter Id Card): यह एक ऐसा सरकारी डॉक्यूमेंट है जो 18 साल होने पर सभी का बनाया जाता है। इस डॉक्यूमेंट को आईडी प्रूफ के लिए इस्तेमाल किया जाता है। यह डॉक्यूमेंट एक भारतीय नागरिक की पहचान करवाता है। इस डॉक्यूमेंट को वोट देने के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है।

पैन कार्ड (Pan Card): यह भी एक सरकारी डॉक्यूमेंट है। यह कार्ड Income tax department का होता है। इसीलिए बैंक यह आपसे मांगता है। इससे होता क्या है की आपके खाते  की पूरी डिटेल Income tax department को बैंक द्वारा मिलती रहती है की आपने किसको कितना पैसा दिया और कितना किस्से लिया। इस कार्ड का आपको फायदा भी होता है। इसका फायदा है की आपकी money white money गिनी जाती है और अगर आपने बैंक में यह डॉक्यूमेंट लगाया है तो आप 50 हज़ार या उससे ज्यादा भी पैसों को निकलवा भी सकते है और जमा भी करवा सकते है।

फोटो (photo): खाता खोलते वक़त बैंक आपसे latest 2 कलर पासपोर्ट साइज फोटो मांगता है। आपकी पहचान के लिए। इन फोटो को आपके फॉर्म के साथ attach किया जाता है।

पासपोर्ट (Passport): इसके बारे में तो आप जानते ही होंगे। इस डॉक्यूमेंट को विदेश जाने के लिए बनवाया जाता है। आप बैंक में इसे address proof के लिए भी इस्तेमाल कर सकते है।

कौन कौन खुलवा सकता है चालु खाता (Current account)?

चालु खाता (Current account) हर वो व्यक्ति खुलवा सकता है जो जानता है की करंट अकाउंट क्या होता है (Current account kya hota hai) और जिसका रोजाना ऑनलाइन पैसों का लेनदेन का काम करता है। अगर उनके पास खाता खोलने वाले जरुरी document है तो निचे दिए हुए सभी के चालु खाता (Current account) खुल सकते है:

  • व्यक्तियों के लिए (Individuals)
  • साझेदारी फर्मो के लिए (Partnership firms)
  • निजी और सर्वजनिक लिमिटेड कम्पनियो के लिए (Private and Public limited companies)
  • निर्दिष्ट संघो के लिए (HUFs/specified associations)
  • समाजों के लिए (Societies)
  • ट्रस्टों के लिए (Trusts)

Current account benefits in hindi

(करंट अकाउंट के फायदे)

करंट अकाउंट क्या होता है (Current account kya hota hai) जानने के बाद आप जब अपने पसंदीदा बैंक में करंट अकाउंट खुलवाने जाते है तो आपको खाता खुलवाने पर कई प्रकार services की सुविधा दी जाती है। इसमें आपको कुछ सुविधाएं तो सेविंग अकाउंट (saving account) की तरह ही होती है तो कुछ अलग सुविधाएं भी दी जाती है। वह कौन कौन सी सुविधा है, आइए जानते है

current account benefits in hindi
current account benefits in hindi

असीमित पैसे निकलने और जमा करने की सुविधा

जी हाँ करंट अकाउंट (current account) खुलवाने के बाद हम जितनी बार चाहे उतनी बार पैसा उसमे जमा करवा सकते है। पर सेविंग अकाउंट (saving account) में कुछ लिमिट होती है। करंट अकाउंट का एक बड़ा फायदा यह भी है की जहाँ पर आपने अकाउंट खुलवाया है उस ब्रांच में पैसे निकलवाने पर कोई शुलक नहीं लगता। पर अन्य ब्रांचो में पैसे निकलवाने पर आपको कुछ न कुछ शुलक लग सकता है। यह सुविधा अलग अलग बैंको में कम ज्यादा हो सकती है।

Difference between RTGS and NEFT in hindi

ATM and Internet banking की सुविधा

यह सुविधा आपको सेविंग अकाउंट (बचत खाता) ओपन करने पर भी मिलती है और करंट अकाउंट (current account) में भी मिलती है। इस सुविधा से आप अपने घर बैठे भी किसी को भी पैसे ट्रांसफर कर सकते हो।

डिमांड ड्राफ्ट (Demand Draft) और चेक बुक की सुविधा

करंट अकाउंट खुलवाने पर आपको एक Cheque book फ्री में दी जाती है। उसके बाद भी हर तीसरे महीने के बाद कुछ संख्या में चेक फ्री में जारी किये जाते है। इसी तरह डिमांड ड्राफ्ट की सुविधा दी जाती है।

NEFT और RTGS में charges की छूट की सुविधा

आपको यह तो पता ही होगा की हम नेफ्ट और आर टी जी ऐस का इस्तेमाल पैसे ट्रांसफर करने के लिए करते है। करंट अकाउंट में NEFT or RTGS करने पर शुलक सामान्य शुलक के मुकाबले थोड़ा कम लगता है।

बैंक स्टेटमेंट्स की सुविधा (Bank statements facilities)

हमारी मांग के आधार पर बैंक हमें करंट अकाउंट में statement की सुविधा भी प्रदान करता है। हम अपनी मर्जी से इसकी समयावधि की frequency तय कर सकते है।

लोन की सुविधा (Loan facilities)

करंट अकाउंट (Current account) खुलवाने पर बैंक हमें लोन की सुविधा भी प्रदान करता है। करंट अकाउंट में लोन लेने पर हमें processing charges भी कम लगते है। अब तो सभी बैंको ने करंट अकाउंट की भी अलग अलग श्रेणी बना रखी है। जितनी अच्छी श्रेणी के अकाउंट को हम उपयोग करेंगे उतनी अच्छी सुविधाएं भी हमको मिलेंगी।

करंट अकाउंट (Current Account) के नुकसान

  • सेविंग अकाउंट (Saving account) में हमें जमा राशि पर जो 4-6% व्याज मिलता है, करंट अकाउंट (Current account) में वह नहीं मिलता।
  • अधिकांश चेकों का उपयोग करने पर आपसे कुछ चार्ज लिए जा सकते है।
  • डिमांड ड्राफ्ट और पीओर्डर के मामले में तय संख्या से अधिक प्रयोग करने पर शुलक अदा करना पड़ता है।
  • इस प्रणाली में कागजी कारवाई और प्रिंट वर्क होने की वजह से यह समय खाने वाला एवं लम्बा हो जाता है।
  • करंट अकाउंट में भले ही एक दिन में कितनी बार पैसे जमा किये जा सकते है पर पैसे निकलने की सीमा है।
  • करंट अकाउंट को ऑपरेट करने में आप पर कुछ अतिरिक्त बोझ पड़ सकता है क्योंकि ज्यादा पैकेज अतिरिक्त सेवाओं के लिए अतिरिक्त चार्ज करते है।

आज आपने क्या सीखा

इस आर्टिकल में हमने सीखा की करंट अकाउंट क्या होता है (Current account kya hota hai), current account meaning in hindi, करंट अकाउंट खाता खोलने के लिए न्यूनतम राशि कितनी होनी चहिये, करंट अकाउंट का खाता खोलने के लिए क्या क्या जरुरी documents चाहिए, कौन कौन खुलवा सकता है चालु खाता, करंट अकाउंट खुलवाने के फायदे और नुक्सान।

हमें पूरा विश्वास है की यह सब पढ़ कर आपको अच्छा लगा होगा। इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें। अगर आपका कोई इस आर्टिकल के प्रति कोई प्रश्न हो तो हमें comment box में कमेंट करके जरुर बतायें। धन्यवाद।

Leave a Comment