Web Hosting Kya Hai Best Tutorial 2021

Web Hosting Kya Hai

अगर आप भी अपना एक Blog/Website शुरू करने के बारे में सोच रहें है और जानना चाहते है कि Web Hosting Kya Hai (What is Web Hosting in Hindi) इसका क्या काम होता है, और कहाँ से इसे ख़रीदा जाता है या फिर आपके लिए कौन सी होस्टिंग बढ़िया है। तो हम इस पोस्ट में जानेगें, Web Hosting Kya Hai और यह कैसे काम करती है।

Web Hosting एक तरह की Internet सेवा है जिसके द्वारा हम अपनी वेबसाइट या ब्लॉग को internet पर सुरक्षित स्टोर करके रख सकते है। Website Hosting के लिए हमको पॉवरफुल सर्वर चाहिए होता है जो इंटरनेट से हमेशा कनेक्टेड हो ता जो हमारी website हर समय यूजर के लिए उपलबध हो।

Server maintenances कॉस्ट ज्यादा होने की वजह से हम खुद इसे maintain नहीं कर सकते इसी लिए हम भरोसेमंद वेब होस्टिंग कंपनियों की मदद लेते है क्योंकि इनका खुद का स्टाफ और खुद का ही सर्वर होता है।

Web Hosting को खरीदने के लिए हम वेब होस्टिंग कंपनियों से इसे खरीद सकते है। उसके बाद हम अपनी वेबसाइट को आसानी से होस्ट कर सकते है।

Web Hosting क्यों जरुरी है

Web Hosting Kya Hai
Web Hosting Kya Hai

Web Hosting हमारे Blog/Website के इस लिए जरुरी है क्योंकि इसके बिना हम अपने Blog/Website या कह ले अपने content, images को users को नहीं दिखा सकते। जिस प्रकार एक मोबाइल फ़ोन में को चलाने के लिए उसमे बैटरी का होना जरुरी है ठीक उसी प्रकार हमे इंटरनेट पर अपनी वेबसाइट को दिखाने के लिए Web Hosting जरुरी है।

यह भी पढ़ें: Best Cheap Web Hosting for Blog and Website 2021

क्योंकि इससे हमे इंटरनेट पर अपनी वेबसाइट को स्टोर या सेव करने की जगह मिल जाती है जो 24hrs इंटरनेट पर मौजूद रहती है इसी से हमारी वेबसाइट 24hrs घंटे user को दिखाई देती है। User जब भी हमारी वेबसाइट या कंटेंट को देखना चाहे वह देख सके इसीलिए हमें Web Hosting की जरुरत पड़ती है।

Web Hosting Work कैसे करता है

जब हम अपने Mobile या Computer में किसी भी browser उदाहरण के तोर पर Chrome, Firefox, Mozilla को खोलते है और उसके एड्रेस बार में कोई भी वेबसाइट का address लिख कर एंटर करते है तो वह वेबसाइट open हो जाती है, यह कैसे खुलती है आपने कभी सोचा।

असल में होता क्या है जो Domain or Website का address हमने भरा था वह IP Address से connected होता है और यह उस डोमेन या वेबसाइट के एड्रेस को server से जोड़ देता है websites के content images store किये होते है।

इसीलिए जब हम किसी भी website को अपने Mobile या Computer में खोलते है तो उस वेबसाइट का सारा content और images हमे दिखाई देता है।

Buy Hosting From HostGator Company

Web Hosting के प्रकार (Types of Web Hosting)

हमने यह तो जान लिया, Web Hosting Kya Hai, Web Hosting क्यों जरुरी है और Web Hosting Work कैसे करता है

आइए अब जान लेते हैं कि Web Hosting कितने प्रकार की होती है:

  • Shared Web Hosting
  • Cloud Web Hosting
  • Virtual Private Server (VPS)
  • Dedicated Hosting

Shared Web Hosting: यह एक ऐसी Web Hosting होती है जिसमे कई सारी websites एक सिंगल server पर host की होती है। मतलब Shared Web Hosting से connected सभी websites का एक ही IP Address होता है, और सभी websites को एक ही web server में स्टोर करके रखा जाता है।

यह भी पढ़ें: Talwara to Chandigarh Bus Timing, CTU, HRTC

अगर आप नए सिरे से अपना एक ब्लॉग बनाते है तो आपके लिए कम बजट में  Shared Web Hosting अच्छी है, क्योंकि नए ब्लॉग पर ज्यादा traffic नहीं होता और स्पीड भी अच्छी मिल जाती है।

इस Shared Web Hosting Plan में दिक्कत आपको तब आती है जब आपकी site पर traffic बढ़ जाता है। क्योंकि वेबसाइट पर traffic बढ़ने से website की speed धीमी हो जाती है, जिससे हमारी website के कंटेंट को लोड होने में ज्यादा समय लगता और इससे user experience ख़राब होता है।

Buy Hosting From HostitBro Company

हम आपसे यही कहना चाहेंगे कि new website के लिए कम बजट में तो  Shared Web Hosting अच्छी है।

जब तक आपकी वेबसाइट पर traffic कम है तब तक आप इसका प्रयोग कर सकते है, और जब आपको लगे की अब आपकी वेबसाइट पर traffic बढ़ रहा है तब आप कोई और अच्छा प्लान खरीद सकते है।

Cloud Web Hosting: यह एक ऐसी Web Hosting है जिसमे हमारी website का डाटा अलग अलग Cloud Server पर स्टोर होता है। जिसके 2 बड़े benefits यह है कि हमारी website कई सारे server पर host होने की वजह से सारे servers का लोड बँट जाता है।

दूसरा अगर मान लीजिये एक server बंद या ख़राब भी हो जाये तो दूसरा server उसकी जगह ले लेता है और हमारी website offline या बंद नहीं होती और users को हमेशा दिखाई देती है।

Virtual Private Server (VPS): यह भी एक ऑनलाइन सर्विस है जिसमे हमे पूरा control मिलता है। हम कई सारे VPS Servers में ऑपरेटिंग सिस्टम भी use कर सकते है। यह हमे Physical Server जैसा feel देता है और हमे ऐसा लगेगा की हमारे पास भी खुद का अपना ही एक अलग सर्वर है जिसमे हम कुछ भी कर सकते है।

पर दरअसल यह पूरा सर्वर नहीं होता यह एक बड़े servers के अंदर Virtualization Technology से बनाया हुआ सर्वर होता है जो हमे physical server जैसा ही फील कराता है।

यह भी पढ़ें: घोड़े की नाल मिलना शुभ या अशुभ | Powerful 5 Benefits

असल में होता क्या है कि एक बड़े फिजिकल सर्वर के बीच छोटे छोटे वर्चुअल server बनाकर लोगों को दिये जाते है जिन्हे वह अपने हिसाब से use कर सकते है। इस सर्वर का इस्तेमाल आप अपने किसी बड़े प्रोजेक्ट पर काम करने के लिए या फिर वेबसाइट या आप होस्ट करने के लिए कर सकते है। इसका सबसे बड़ा फायदा यह है कि इसे हम अपनी मर्जी से अपनी जरुरत के हिसाब से प्रयोग कर सकते है।

Dedicated Hosting: यह एक ऐसी वेब होस्टिंग है जिसे खरीदने पर हमे एक पूरा server मिल जाता है और इसमें सर्वर सिर्फ हमारी website को ही होस्ट करता है। क्योंकि इस सर्वर पर हमारे इलावा और कोई user नहीं होता है जिससे हमे कई सारे dedicated resources मिल जाते है और साथ में privacy भी मिल जाती है।

इस होस्टिंग में हमारे server पर पूरा कण्ट्रोल होता है। हम अपने सर्वर के owner होते है, हम अपने सर्वर को अपने हिसाब से set कर सकते है। हम अपने server पर resources को कम ज्यादा कर सकते है।

निष्कर्ष

आज हमने इस पोस्ट में पढ़ा और जाना कि Web Hosting Kya Hai, Web Hosting क्यों जरुरी है, Web Hosting Work कैसे करता है, Web Hosting के प्रकार (Types of Web Hosting)

अगर आप एक अपना सुन्दर ब्लॉग बनाने के बारे में सोच रहे है तो आप यह तो जान ही गए होंगे कि Web Hosting Kya Hai, तो आप अपने बजट के हिसाब से जो भी Web Hosting अच्छी लगे उसे खरीद कर एक अच्छा ब्लॉग शुरू कर सकते है।

हमारे Hindi Tech Blog का एक ही मकसद है और वह है हर जानकारी हिंदी में फ्री में उपलब्ध करवाना और आपकी मदद करना।

यह भी पढ़ें: Best Tutorial Notepad kya hai

 

Leave a Comment